Link | Defination of Link

Link - Defination, Full Form


LINK का मतलब क्या है? इस आर्टिकल में मैंने लिंक acronym, abbreviation Shorthand या Slang के हर पॉसिबल मीनिंग के बारे में बताया है।


Link meaning in Hindi - अगर मैं सीधे आसान शब्दों में बताना चाहूं की ये Link क्या होता है? - सिंपल भाषा में Link किसी वेबसाइट या वीडियो का URL यानी Address होता है। 


जिस एड्रेस या url के जरिए आप पहुंच सकते हो उस पर्टिकुलर वेबसाइट वीडियो या संस्था तक।


एक एग्जांपल देकर समझाता हूं इस पोस्ट के ऊपर और नीचे जो आपको सोशल मीडिया बटन्स जैसे facebook, Twitter, Pinterest और मैसेज आदि दिख रहे हैं।


सिंपल उसपर click या टच करने पर वो आपको वो उस सोशल मीडिया हैंडल पर इस आर्टिकल का एड्रेस शेयर करने का बटन दिख जाएगा आप चाहे तो कर दीजीए। 


ये जो आपने अभी देखा जो पोस्ट शेयर किया उसके एड्रेस यही URL को ही Link कहते हैं। तो देखा आपने की Link किसी वेबसाइट या वीडियो का पता होता है।


जिसपर जाकर यूजर उस वेबसाइट या संस्था तक पहुंचता है या उस लिंक को गूगल पर सर्च करके भी पहुंच सकता है।



    लिंक का फूल फॉर्म क्या होता है? | Link Full Form


    यहां मैं जिस link के बारे मे विस्तार पूर्वक बता रहा हूं उसका कोई अलग फुल फॉर्म नहीं है बस एक ही शब्द है LINK यही इसका पूरक है। 


    लेकिन बहोत से लोगों को इससे अलग फुल फॉर्म जानने में काफी उत्सुकता होती है, उनके लिए कुछ फुल फॉर्म नीचे बताए गए हैं।


    Link Full Form is Linked Information Network for Kids with Disabilities.


    अर्थात, लिंक का फुल फॉर्म विकलांग बच्चों के लिए लिंक्ड इंफॉर्मेशन नेटवर्क है।


    लिंक के दूसरे भी और बहोत अलग अलग फुल फॉर्म और मीनिंग्स होते हैं दूसरे कैटेगरीज के आधार पर कुछ मैने लिखे हैं, जैसे -

     

    LINK Full Form

    Slang Full Form Category
    LINK Linked Information Network for ids with Disabilities Organization
    LINK LINK Organization
    LINK Let's Include New Kids Education
    LINK Liberty In North Korea Nationalism
    LINK Liberty In North Korea Military and Difference
    LINK Learning Innovative New Knowledge University
    LINK Linear Interlink Network Test Engineering
    LINK Living Indipendently In Northwest Kansas Unclassified
    LINK Live and Interactive Network of Knowledge Unclassified
    LINK Linking Individuals to Necessory Knowledge Unclassified
    LINK List Inquire Note Know Unclassified
    LINK Learning Information Networking Knowledge Networking
    LINK Lawrence Interdenominational Nutritional Kitchen Unclassified
    LINK Laboratory Innovations and Networking for Knowledge Laboratory
    LINK Lonely Instruments for Needy Kids Unclassified


    LINK शब्द की उत्पत्ति | Origin of LINK


    Link शब्द की उत्पत्ति में मतभेद है पुराने अंग्रेजी महानुभाओं और विशेषज्ञों की माने तो "LINK" शब्द  स्कॉट्स भाषा के hlink जोकि पुरानी इंग्लिश से आया है उसका शब्द है।


    Riding ground, ridge और area of coastal sands के एक क्षेत्र को संदर्भित करता है।


    🔥DSLR - Defination, Full Form and More.

    🔥SOAP - Full Form, Meaning & Slang.

    🔥REST - Meaning, Defination & Full Form.


    Client और Server क्या होता है? | What is Client and Server ?

    Server and client


    Link के बारे में अच्छी तरह अगर आप समझ चुके हैं तो अपको अब Client and Server के बारे में जानना बहोत ही आवश्यक हो जाता है। 


    ये थोड़ा पेचीदा टॉपिक है मगर टेंशन किस बात की आपका भाई Chand Azad हैना जो हर मुश्किल टॉपिक को अपको easy वे में समझने के लिए ही तो है।


    इंटरनेट की दुनिया में अपने ये दो वर्ड्स Client और Server का नाम बहोत बार सुना होगा, क्या आप इसका एक्चुअल मतलब जानते हैं?


    चलिए मैं आपको सिंपल बाहोत ही easy तरीके से और बहोत ही छोटे एग्जांपल से समझता हूं। मान लिजये आप एक मोबाइल शॉप पर जाते हैं.


    वहां पर बहोत सारे मोबाइल फोन पड़े रहते हैं तो आप दुकानदार को कहते हैं की मुझे ये - ये मोबाइल देदो ये - ये मोबाइल दिखा दो ।


    तो जो शॉप वाला होता है जिसका भी मोबाइल दुकान होता है वो आपको मोबाइल दिखा देता है। तो उस शॉप वाले के लिए बेचने वाले के लिए आप क्या कहलाओगे क्लाइंट।


    तो बैसिक्ले आप सभी लोग क्या करते हो रिक्वेस्ट करते हो और जो रिक्वेस्ट करता है वो client कहलाता है।


    और उस रिक्वेस्ट को जो भी जवाब देता है respond करता है वो कहलाता है Server. तो सेम आप दुकान वाले के पास जाते हो उसको रिक्वेस्ट करते हो।


    की मोबाइल दिखा दो और वो आपको मोबाइल दिखा देता है तो आप कहलाए client और वो आपके रिक्वेस्ट को respond करके शो करके दिखा देता है तो वो कहलाता है सर्वर।


    तो यही काम है server और client का आप उससे सवाल पूछते हो वो जवाब देता है आप उसमे चीज मांगते तो वो आपको चीज लेकर दे देता है।


    सेम इंटरनेट पे ऐसा ही काम होता है इंटरनेट पे जो client होता है वो brawser होता है , ब्राउजर को कोन access करता है आप करते हो।


    तो ब्राउजर client होता है और वो जो file आप एक्सेस करना चाहते हो, किसी भी विडियोज को फोटोज पे Link को क्लिक करके ओपन करना चाहते हो।


    वो इंटरनेट के किसी सर्वर से या यूं कह लो किसी सर्वर पे save रहता है स्टोर रहता है, तो आप Link पर क्लिक करोगे सर्वर को बोलोगे मुझे ये file दिखाओ।


    तो वो आपको फाइल दिखा देता है तो वो फाइल कहां स्टोर है? कहां save है? वो सारा का सारा कहलाता है सर्वर।



    Blogging में Link का मतलब।


    Link Building क्या है?

    Link building - लिंक बिल्डिंग या Link Building ब्लॉगिंग की दुनिया में या फिर कही के ब्लॉगिंग फील्ड में एक बहोत ही खास और जरूरी प्रोसेस है।


    जिसमे एक वेबसाइट का ऑनर Google में रैंकिंग और अथॉरिटी बढ़ाने के लिए दूसरे वेबसाइट से एक Backlink बनाता है। अगर आपको वेबसाइट नई है तो अच्छे साइट्स के बैकलिंक आपकी रैंकिंग स्पीड बढ़ा देगी और आपका वेबसाइट जल्दी रैंक होगा।


    Backlink क्या होता है?

    Link building के लिए आपको दूसरे वेबसाइट में अपने वेबसाइट या साइट के किसी पेज या आर्टिकल का URL डालना होता है जिससे उस वेबसाइट से आपके वेबसाइट पर कुछ LINK Juice पहुंच सके।


    Backlink बनाने के भी 2 तरीके है या फिर यूं कह सकते हैं की बैकलिंक 2 तरीके के होते हैं।


    • Dofollow Backlink
    • No follow Backlink


    1. Do - Follow Backlink क्या होता है?

    Do Follow backlink दोनो में से सबसे जरूरी बैकलिंक प्रोसेस है। इसमें वेबसाइट का owner आपके  वेबसाइट के LINK या URL को hyperlink formate में डालता है, जिसपर क्लिक करते ही कोई भी यूजर आपके वेबसाइट या आर्टिकल तक पहुंच सकता है।


    Do Follow backlink बनाने से आपके वेबसाइट में Link Juice पास होता है और इस वजह से आपके साइट की रैंकिंग बहोत तेजी से बढ़ती है।


    2. No Follow backlink क्या होता है?

    No Follow backlink भी काफी काम की है लेकिन इससे आपकी रैंकिंग में बहोत धीमे धीमे बढ़ोत्तरी होती है Do Follow के मुकाबले। 


    अगर आप अच्छे बड़े वेबसाइट से No Follow backlink बनाते हैं तो इससे उसपर आने वाले यूजर्स को नजर उस वेबसाइट पर दिए  आपके वेबसाइट के No Follow backlink पर नजर डालता है और आपके साइट को सर्च करता है।


    No Follow backlink विडियोज के माध्यम से भी बनाया जा सकता है। इसके और भी कई सारे दुसरे तरीके हैं। Do Follow और No Follow में बस यही फर्क है की No Follow में Link Juice नही पास होगा।


    Link Juice क्या होता है?

    आपके द्वारा वेबसाइट पर बनाए गए backlink से होकर यूजर आपके वेबसाइट तक पहुंचता है। इसे ही Link Juice कहते हैं।


    Conclusion


    उम्मीद करता हूं की आपको समझ आ गया होगा की client और server का क्या चक्कर है या किसे कहते हैं। तो ये आर्टिकल Link के बारे में अपको कैसा लगा मुझे कमेंट करके जरूर बताएं।

    || जय हिंद ||



    2 Comments

    Post a Comment

    Previous Post Next Post